दमा के रोग की कुछ विशेष जानकारी ,Dma Ke Rog Kuch Vishesh Janakari |

दमा के बारे में जानकारी ;-
दमा के रोग की कुछ विशेष जानकारी
दमा के रोग की कुछ विशेष जानकारी
दमा का रोग क्या होता है :- दमा एक बहुत ही गंम्भीर रोग होता है | यह रोग हमारी साँस की नलिकाओं से जुड़ा हुआ है | यह साँस की नलिकाओं को प्रभावित करता है | साँस नलिकाएं फेफड़े से हवा को अंदर – बाहर करती है | आर आपको दमा है , तो साँस की नलिकाओं में सूजन आ जाती है | यह सूजन नलिकाओं को बहुत प्रभावित करती है | और किसी भी बैचेन करने वाली चीज को छुते ही गुस्सा आता है | जब साँस की नलिकाएं प्रभावित होती है , उनमे संकुचन होता है | ऐसी परिस्थिति में आपके फेफड़े मे हवा की मात्रा कम हो जाती है | इससे आपको खांसी , नाक बजना , छाती का कड़ा होना , रात के समय और सुबह के समय साँस लेने में कठनाई होना | जैसे कुछ लक्षण दिखाई देते है | परन्तु इस रोग पर नियन्त्रण पाया जा सकता है | इस रोग से पीड़ित व्यक्ति एक सामान्य जीवन जी सकता है | जब रोगी को दमे का दौरा पड़ता है , तो उसकी साँस की नलिकाएं बंद हो सकती है | जिसके कारण शरीर के दुसरे अंगों में ऑक्सीजन की पूर्ति बंद हो जाती है | यह चिकत्सा के रूप में बेहद कष्टदायी स्थिति होती है | इस रोग में जब व्यक्ति को दौरा पड़ता है | तो व्यक्ति की मौत भी हो सकती है | इसलिए अगर आपको दमा का रोग है तो , आपको नियमित रूप से डॉक्टर से मिलना चाहिए | उनसे परामर्श लेकर इस रोग की रोकथाम करने के उपाय पर अम्ल करना चाहिए | उचित दवाओं का उपयोग करना चाहिए | ताकि इस बीमारी पर नियन्त्रण पाया जा सके |
दमा रोग होने कारण :- दमा के रोग के बारे में आपको यह जानना बहुत जरूरी है कि यह रोग किन कारणों से उत्पन्न होता है | इसके आलावा कुछ अन्य जानकारी का होना भी बहुत जरूरी है | कुछ लोगों को व्यायाम करने से या विषाणु के संक्रमण होने पर दमा का दौरा पड़ता है |
Dma Ke Rog Ke Lakshan
Dma Ke Rog Ke Lakshan
दमा होने के बाद के कुछ कारण :- इस रोग जानवरों की स्किन से , बाल से या पंख के रोंय से होता है |
डीमक जो कि घरों में पाए जाते है |
तिलचट्टे से |
पेड़ और घास के पराग कणों से |
धुम्रपान करने से | इसके आलावा वायु प्रदुषण के कारण |
ठंडी हवा चलने से या मौसम में बदलाव होने के कारण |
धुल के कणों से |
पेंट की सुगंध से या रसोई की तीखी खुशबु से |
खुशबूदार सामान से |
जरूरत से अधिक रोना , हँसना , और तनावपूर्ण वातावरण में रहना |
एस्पिरिन और अन्य दवाओं के उपयोग से |
खाद्य पदार्थों में सफाईट जैसे सूखे फल,या पेय पदार्थ आदि |
संक्रमण से |
परिवार के इतिहास से |
जो लोग तम्बाकू या किसी चीज का धुम्रपान करने से या उस वातावरण में रहने से बच्चों को दमा होने का खतरा बढ़ जाता है | अगर कोई गर्भवती स्त्री अपनी गर्भावस्था के समय धुएं से भरे हुए वातावरण में रहती है | तो , उससे बच्चे को दमा होने का खतरा बढ़ जाता है |
 Dama Ko Niyantrit Krne Ka Trika
 Dama Ko Niyantrit Krne Ka Trika 
ये थे कुछ कारण जिनसे दमा हो सकता है | इसके बाद बात करते है कि दमा के लक्षण क्या – क्या है |
छींके आना|
इस रोग में किसी भी समय में रोगी को साँस लेने में परेशानी हो सकती है |
रात के समय या सुबह के समय तेज़ होता है |
ठंडी जगहों में या व्यायाम करने से , या अधिक गर्मी से यह समस्या और भी बढ़ जाती है |
दमा के रोगी को खांसी के साथ बलगम आता है या फिर सुखी खांसी होती है |
दमा के रोगी को उचित प्रकार की दवाइयों का उपयोग करना चाहिए | जिससे आप इस बीमारी को रोक सकते है |
 इस रोग में रोगी को साँस फूलना आदि जैसे लक्षण हो सकते है | इसके आलावा जब आप कोई काम तेज़ी से करते है , तो भी आपकी साँस फूलने लगती है |
शरीर के अंदर खिचाव होता है |
आज हमने आपको दमा के लक्षणों और इस बीमारी के होने का कारण बताया है |

दमा के रोग की कुछ विशेष जानकारी ,Dma Ke Rog Kuch Vishesh Janakari , Dma Ke Rog Ke Lakshan , Dmaa Hone Ka Karan , Dama Ko Niyantrit Krne Ka Trika | 

No comments:

Post a Comment


http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/09/pet-ke-keede-ka-ilaj-in-hindi.html







http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/08/manicure-at-home-in-hindi.html




http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/11/importance-of-sex-education-in-family.html



http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/10/how-to-impress-boy-in-hindi.html


http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/10/how-to-impress-girl-in-hindi.html


http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/10/joint-pain-ka-ilaj_14.html





http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/09/jhaai-or-pigmentation.html



अपनी बीमारी का फ्री समाधान पाने के लिए और आचार्य जी से बात करने के लिए सीधे कमेंट करे ।

अपनी बीमारी कमेंट करे और फ्री समाधान पाये

|| आयुर्वेद हमारे ऋषियों की प्राचीन धरोहर ॥

अलर्जी , दाद , खाज व खुजली का घरेलु इलाज और दवा बनाने की विधि हेतु विडियो देखे

Allergy , Ring Worm, Itching Home Remedy

Home Remedy for Allergy , Itching or Ring worm,

अलर्जी , दाद , खाज व खुजली का घरेलु इलाज और दवा बनाने की विधि हेतु विडियो देखे

Click on Below Given link to see video for Treatment of Diabetes

Allergy , Ring Worm, Itching Home Remedy

Home Remedy for Diabetes or Madhumeh or Sugar,

मधुमेह , डायबिटीज और sugar का घरेलु इलाज और दवा बनाने की विधि हेतु विडियो देखे