बाँझपन के निदान हेतु आयुर्वेदिक चिकित्सा | Banjhpan Ke Nidan Hetu Aayurvedic Chikitsa

बाँझपन का उपचार
बाँझपन क्या हैं
जिन स्त्रियों का विवाह के बाद गर्भ नही ठहर पाता हैं अर्थात जो स्त्रियाँ बच्चे को जन्म देने में असमर्थ होती हैं. वो स्त्रियाँ बांझपन का शिकार हो जाती हैं.

बाँझपन का लक्षण
बाँझपन का मुख्य लक्षण महिला द्वारा गर्भ धारण न कर पाना हैं.
बाँझपन के निदान हेतु आयुर्वेदिक चिकित्सा
बाँझपन के निदान हेतु आयुर्वेदिक चिकित्सा
बाँझपन के कारण
१.       अगर महिला को किसी प्रकार का योनी रोग हैं तो उसे बाँझपन का सामना करना पड़ता हैं.

२.       महिला को यदि मासिक धर्म होना बंद हो जाएँ तो भी उसे इस स्थिति का सामना करना पड़ता हैं.

३.       यदि महिला को रक्तप्रदर या श्वेतप्रदर जैसे रोगों की शिकायत हैं तो उसे बाँझपन का शिकार होना पड़ सकता हैं.

४.       जिन स्त्रियों को गर्भ से जुडी हुई परेशानी हो जैसे – गर्भ में कीड़े लगना, उनके गर्भाशय का मांस बढ़ जाना, गर्भाशय का वायु वेग के कारण ठंडा हो जाना, गर्भाशय उलट जाना या गर्भाशय जल जाना आदि कारणों से भी महिला बाँझ हो जाती हैं.

५.       एक महिला बाँझ उसके पुरुष साथी के कारण भी हो सकती हैं. क्योंकि अगर पुरुष में शुक्राणुओं की संख्या कम हैं तो भी महिला को बाँझपन का सामना करना पड सकता हैं.


बाँझपन से छुटकारा कैसे पायें
१.       दालचीनी का प्रयोग – दालचीनी बाँझपन की समस्या से निजात दिलाने हेतु बहुत ही असरदार औषधि साबित होती हैं. इसीलिए इसका इस्तेमाल महिला के साथ – साथ पुरुष भी कर सकते हैं. अगर महिला के बाँझपन का कारण पुरुष हैं तो उसे रोजाना रात को सोने से पहले दो चम्मच दालचीनी का सेवन करना चाहिए. इससे पुरुष के शुक्राणुओं में वृद्धि होने के साथ - साथ उसके वीर्य में भी वृद्धि होगी.

·         महिला को भी इसका इस्तेमाल रोजाना करना चाहिए. इसके लिए केवल महिला को रोजाना दिन में कम से कम पांच या छ: बार अपने मसूड़ों पर दालचीनी के पाउडर में शहद मिलाकर लगायें. लेकिन इस उपाय को करते हुए इस बात का ध्यान रखें की इसे लगाने के बाद थूकें नही. ऐसा करने से आपको इस मिश्रण को लगाने का कोई लाभ प्राप्त नही होगा. अगर आप इस उपाय को नियमित रूप से करती हैं तो आपके अंदर गर्भ धारण करने की क्षमता जल्द ही बढ़ जाएगी.

२.       गुग्गुल – अगर आप श्वेतप्रदर के रोग के कारण गर्भ धारण नही कर पा रही हैं तो इसके लिए आपको गुग्गुल का इस्तेमाल करना चाहिए. इस समस्या से निजात पाने के लिए २ ग्राम गुग्गुल लें और थोडा सा रसौत लें. इसके बाद इन दोनों को मक्खन में मिलाकर इसका सेवन दिन में कम से कम तीन बार जरुर करें. आपको श्वेतप्रदर की समस्या से तो छुटकारा मिलेगा ही, इसके साथ ही आप सन्तान को जन्म भी दे  सकेंगी.
Banjhpan Ke Nidan Hetu Aayurvedic Chikitsa
Banjhpan Ke Nidan Hetu Aayurvedic Chikitsa
  
३.       मैनफल के बीज – अगर आपको गर्भ धारण करने में समस्या योनी रोगों के कारण आ रही हैं तो इसके लिए मैनफल के बीजों का चूर्ण लें, अब एक गिलास दूध लें और उसमें केसर और शक्कर मिला लें. इसके बाद इसमें मैनफल के बीज का चूर्ण मिलाएं और इस दूध का सेवन करें. इससे आपकी योनी से जुडी हुई समस्या जैसे – मासिक धर्म का रुक जाना, सूजन, अनियमित रक्त स्राव आदि की समस्या ठीक हो जायेगी. 
  

४.       काला नमक – अगर किसी महिला के सिर में अधिक दर्द रहता हैं और उसका गर्भ ठहर नहीं पाता हैं तो इसके लिए उसे काले नमक में लहसुन और समुद्रफेन की 6 – 6 ग्राम की मात्रा मिलाकर इस मिश्रण को रुई में लगाकर रात को सोने से पहले अपनी योनी में लगा लें और इस उपाय को लगातार तीन दिन करें. आपको इस समस्या से छुटकारा मिल जाएगा.

५.       हींग – यदि किसी महिला का सारा शरीर कांपने लगता हैं तो इसका अर्थ हैं कि महिला के गर्भाशय में वायुदोष हैं. जिसके कारण वह माँ नहीं बन पा रही हैं. अगर ऐसा हैं तो इस स्थिति में महिला के लिए हींग बहुत ही लाभकारी साबित होगा. इसके लिए केवल हींग का चूर्ण लें और इसे तिल के तेल में मिला लें. इसके बाद इस मिश्रण को रुई की सहायता से योनी के मुख पर लगायें. लगातार तीन या चार दिन तक इस उपाय को करने से आपकी यह समस्या हल हो जायेगी. 
Banjhpan Ke Karan Lakshan Or Upchar
Banjhpan Ke Karan Lakshan Or Upchar
बाँझपन के निदान हेतु आयुर्वेदिक चिकित्सा, Banjhpan Ke Nidan Hetu Aayurvedic ChikitsaBanjhpan Ka Gharelu Upchar, Banjhpan Kya Hain, Banjhpan Ke Karan Lakshan Or Upchar, Banjhpan Ka Deshi Ilaj, Banjhpan Se Nijat Kaise Payen 

No comments:

Post a Comment


http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/09/pet-ke-keede-ka-ilaj-in-hindi.html







http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/08/manicure-at-home-in-hindi.html




http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/11/importance-of-sex-education-in-family.html



http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/10/how-to-impress-boy-in-hindi.html


http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/10/how-to-impress-girl-in-hindi.html


http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/10/joint-pain-ka-ilaj_14.html





http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/09/jhaai-or-pigmentation.html



अपनी बीमारी का फ्री समाधान पाने के लिए और आचार्य जी से बात करने के लिए सीधे कमेंट करे ।

अपनी बीमारी कमेंट करे और फ्री समाधान पाये

|| आयुर्वेद हमारे ऋषियों की प्राचीन धरोहर ॥

अलर्जी , दाद , खाज व खुजली का घरेलु इलाज और दवा बनाने की विधि हेतु विडियो देखे

Allergy , Ring Worm, Itching Home Remedy

Home Remedy for Allergy , Itching or Ring worm,

अलर्जी , दाद , खाज व खुजली का घरेलु इलाज और दवा बनाने की विधि हेतु विडियो देखे

Click on Below Given link to see video for Treatment of Diabetes

Allergy , Ring Worm, Itching Home Remedy

Home Remedy for Diabetes or Madhumeh or Sugar,

मधुमेह , डायबिटीज और sugar का घरेलु इलाज और दवा बनाने की विधि हेतु विडियो देखे