दिल के रोग होने के कारण और उसके उपाय, Dil Ke Rog Hone Ka Karan Or Uske Upay |

दिल के रोग होने के कारण और उसके उपाय
दिल के रोग होने के कारण और उसके उपाय

दिल से जुडी हुई बीमारी :- मानव के शरीर के सभी हिस्से महत्वपूर्ण होते है |  लेकिन हृदय मानव के शरीर का ही नही बल्कि उसके जीवन का भी एक महत्वपूर्ण अंग होता है | हृदय का मुख्य काम शरीर के सभी अवयव को ओक्सीजन युक्त खून नालिका तक पंहुचना होता है और ऑक्सीजन रहित दुषित खून को फेफड़ों तक पंहुचाते है | इसके बाद फेफड़े दुषित खून को ओक्सीजन में मिलाकर शुद्ध करते है | अगर किसी कारण वश दिल में किसी प्रकार का विकार हो जाता है तो इससे कई रोग जन्म ले लेते है | दिल की बीमारी होने का मुख्य कारण धमनी से होता है | यदि धमनी में विकार होता है तो इससे शरीर की मासपेशियों तक खून का संचार नही हो पाता | जिसके कारण भयानक रोग हो जाते है | जिनका यदि सही समय पर उपचार नही किया गया तो मनुष्य की मौत भी हो सकती है | इस रोग को हार्ट अटैक भी कहते है |  मनुष्य को यह रोग उस समय होता है , जब खून का संचार सभी हिस्सों में नही होता | हृदय रोग में धमनी का लचीलापन कम हो जाता है | इसके आलावा इस रोग में दिल के आस – पास बहुत दर्द होता है जिस के कारण व्यक्ति तडपने लगता है |  हार्ट अटैक का रोग महिलाओं की तुलना में पुरुषों को अधिक होता है | तो दोस्तों आज हम दिल की बीमारी से जुडी हुई समस्या और उसके लक्षण के बारे में आपको कुछ जानकारी दे रहे है |
Dil Ke Rog Hone Ka Karan Or Uske Upay
Dil Ke Rog Hone Ka Karan Or Uske Upay
दिल के रोग के कारण :-
ब्लडप्रेशर हाई |
मोटापा
दिल की धमनी की कठोरता
खून का जमना या थक्का बनना |
शरीर में विटामिन सी और कोम्पलेक्स की कमी |
आदि कुछ कारण है जिनके कारण दिल के रोग होते है |
जब मनुष्य के शरीर में कोलेस्ट्रोल जम जाता है और खून का संचार सही तरह से नही होता है तो दिल की बीमारी हो जाती है | कोलेस्ट्रोल एक मोम  की तरह होता है | जो मनुष्य के शरीर के हर एक हिस्से में होता है | अच्छे स्वास्थ्य के लिए शरीर में कोलेस्ट्रोल का होना बहुत जरूरी होता है | लेकिन कोलेस्ट्रोल की सही मात्रा ही शरीर में होनी चाहिए | यदि आवश्यकता से अधिक मात्रा हो गई तो शरीर को भारी नुकसान हो सकता है | कई बार लोग अपने शरीर में कोलेस्ट्रोल को बदने के लिए वसा युक्त भोजन का सेवन करना आरंभ कर देते है | लेकिन इससे शरीर में खराब कोलेस्ट्रोल बढ़ जाता है | जिससे शरीर रोगी हो जाता है | आजकल खाने पीने की चीजो का गलत चुनाव करने से  टेंशन अधिक करने से दिल की बीमारी के रोग से बहुत से लोगों की मौत हो चुकी है | और यह संख्या बढती ही जा रही है |
आज हम आपको दिल की बीमारी को दूर करने के लिए कुछ घरेलू उपाय  के बारे में कुछ जानकारी दे है | जिनका उपयोग बहुत ही आसान है और अधिक खर्च भी नही करना पड़ता | घरेलू उपाय करने से यदि शरीर को कोई लाभ नही मिलता है तो इससे शरीर को किसी प्रकार की हने भी नही होती है | ये उपाय बिल्कुल सुरक्षित होते है |
Dil Ke Rog Ke Liye Lahsun Ka Upyog
Dil Ke Rog Ke Liye Lahsun Ka Upyog
दिल के रोगों को दूर करने के लिए घरेलू उपाय में सबसे पहले लहसुन का नाम आता है | क्योंकि इसमें एंटीओक्सिडेंट नामक तत्व मौजूद होते है | लहुसन का नियमित रूप से प्रयोग करने से खून में कोलेस्ट्रोल नही जमता | लहसुन में खून को पतला करने के गुण विद्यमान होते है | लहुसन का उपयोग किस प्रकार से करना है | यह जानकारी हम आपको दे रहे है |
विधि :- लहसुन की चार कली को चाकू की मदद से छोटे – छोटे टुकड़ों में काट ले | फिर इसे एक गिलास दूध में अच्छी तरह से उबाल लें | जब यह हल्का गर्म हो इसे पी लें | यह बहुत लाभकारी उपाय है | इसके साथ ही साथ हमे भोजन में लहसुन का अधिक प्रयोग करना चाहिए |
जिस मनुष्य को हार्ट अटैक या दिल का दौरा पड़ चूका हो , उस  व्यक्ति के लिए अंगूर का सेवन बहुत लाभदायक है | यह हृदय रोगियों के लिए बहुत अच्छा होता है | अंगूर के रसका उपयोग कुछ
  लगातार करने से हृदय की बढ़ी हुई धड्कन नियन्त्रण में आ जाती है | इसके आलावा इससे हृदय शूल का रोग भी ठीक हो जाता है |
शक्करकंद का उपयोग बहुत ही लाभकारी
शक्करकंद का उपयोग बहुत ही लाभकारी
दिल की रोगियों के लिए शक्करकंद का उपयोग बहुत ही लाभकारी होता है | शक्करकंद में दिल को पोषण देने वाले तत्व पाए जाते है | शक्करकंद को भूनकर खाया जाता है | जो बहुत लाभदायक है | लेकिन इसका उपयोग उचित मात्रा में करना चाहिए | शकरकंद बाजार में आसानी से मिल जाती है |
जिस व्यक्ति को दिल का रोग है | उसे आंवला का सेवन करना चाहिए | आंवला में विटामिन सी अधिक होता है | इसलिए डॉक्टर भी इसके सेवन को अच्छा मानते है |
आंवला का सेवन करें
आंवला का सेवन करें 
कमजोर दिल वाले इन्सान के लिए सेब बहुत उपयोगी होता है | इसलिए जब भी सेब का सीजन आये इसका प्रचुर मात्रा में सेवन करने |
प्याज भी दिल के रोगियों के लिए उत्तम होता है | प्रतिदिन सुबह के समय खाली पेट 5 मिलीलीटर प्याज के रस का सेवन करें | इस उपचार को करने से खून में बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रोल नियंत्रित हो जाता है |
सेब के सिरके का उपयोग
सेब के सिरके का उपयोग 
जिस व्यक्ति को दिल का रोग है | उसे कभी भी धूम्रपान नही करना चाहिए | धूम्रपान करने से दिल का रोग और भी भयानक हो जाता है |
दिल के रोगियों के लिए जैतून का तेल उपयोगी होता है | इसलिए रोगियों को अपने भोजन में ओलिव ऑयल का प्रयोग करना चाहिए | इससे खून का संचार सही प्रकार से होता है |
जिस व्यक्ति को दिल का रोग उसे निम्बू का उपयोग करना चाहिए | इसके लिए एक गिलास गर्म पानी में निम्बू का रस मिला दें | और इसका सेवन करें | इस उपचार को रोजाना सुबह के समय करें | ऐसा करने से खून संचार की नलिकाओं में कोलेस्ट्रोल नही जमता | यह उपचार बहुत ही कारगर है |
हृदय रोग से पीड़ित व्यक्ति को रात के समय सोने से पहले गुनगुने पानी से भरे टब में कुछ देर तक बैठे | इस गर्म पानी में कम से कम 10 से 15 मिनट तक बैठे | यह बहुत ही लाभदायक होता है | इस उपचार को एक हफ्ते में दो बार करें |
शराब और धूम्रपान का सेवन ना करें
शराब और धूम्रपान का सेवन ना करें 
हृदय रोग से पीड़ित व्यक्ति को विटामिन इ का उपयोग करना चाहिए | इससे रोगी को हार्ट अटैक नही आता | विटामिन ई के उपयोग करने से शरीर की खून संचार करने वाली नलिकाओं में ओक्सीजन का संचार होता है | इसके आलावा रोगी को कभी भी शराब का सेवन नही करना चाहिए | यह उसके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है |
हृदय करोगी को नमक का भी कम सेवन करना चाहिए| 
सेब का सिरका , अदरक का रस ,निम्बू का रस और लहसुन का रस आदि सभी चीजों को आपस में मिलाएं | इस मिश्रण को धीमी आंच पर पकाएं | जब इस मिश्रण का चौथा हिस्सा रह जाये तो इसे आंच से उतारकर ठंडा होने के लिए रख दें | इसके बाद इस मिश्रण में तीन गुना शहद मिलाएं | इस तरह एक औषधि तैयार हो गई | इस औषधि को एक कांच की शीशी में भरकर सुरक्षित रख दें | इस औषधि को प्रतिदिन सुबह के समय खाली पेट पीयें| इससे बंद नसें खुल जाती है | और दिल के रोग कम हो जाते है |
लौकी का रस
लौकी का रस
लौकी का रस , पुदीने का रस , तुलसी का रस , काली मिर्च का चूर्ण , थोडा सा सेंधा नमक मिलाकर एक मिश्रण बनाएं | इस मिश्रण को खाने से दिल मजबूत बनता है और साथ ही साथ पेट की समस्या भी दूर हो जाती है |
पान का रस ,लहसुन का रस , अदरक का रस , और शहद की एक – एक चम्मच की मात्रा को आपस में मिलाएं | इस उपचार को करने से रक्त विहिनियाँ साफ़ हो जाती है | यदि आपके लिए लहुसन गर्म करें तो रात के समय खट्टी लस्सी के साथ भिगोकर रखे इसके बाद सेवन करें |
उड़द का आटा ,अरंडी का तेल ,मक्खन और शुद्ध गूगल मिलाकर एक मिश्रण बनाएं | इस मिश्रण को सुबह के समय नहाने के बाद अपने हृदय पर लगा लें | इस लेप को लगाने के दो घंटे के बाद गर्म पानी के साथ धो दें | इस उपचार को करने से रक्त विहिनियाँ सही तरह से चलती है |  
अपने भोज्य पदार्थों में लहसुन , किशमिश , पुदीना , हरा धनिया आदि की चटनी बना लें | इसका सेवन करें | इसके आलावा आंवले के चूर्ण , चटनी , और मुरब्बे आदि का सेवन सही मात्रा में करना चाहिए |
जैतून के तेल का उपयोग
जैतून के तेल का उपयोग 
दालचीनी के चूर्ण को एक कटोरी दूध में अच्छी तरह से उबाल लें | ये दालचीनी गर्म हो तो एक ग्राम शहद मिला दें | इससे कोलेस्ट्रोल की मात्रा घट जाती है |
तो दोस्तों ये थे कुछ उपाय जिनको करने से आप दिल से जुडी हुई हर समस्या का समाधान हो जाता है |



दिल के रोग होने के कारण और उसके उपाय | Dil Ke Rog Hone Ka Karan Or Uske Upay | Dil Ke Rog Ke Liye Lahsun Ka Upyog , Seb Or Amle Ke Laabh , Daalchini Ka Upyog, Dhumrpaan Ka Sevn Hai Hanikarak , Dil Ke Rogi Ke Liye Pyaj Hai Faydemand , Namk Km Khayen , Seb Ke Sirke Ka Upyog | 

No comments:

Post a Comment


http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/09/pet-ke-keede-ka-ilaj-in-hindi.html







http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/08/manicure-at-home-in-hindi.html




http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/11/importance-of-sex-education-in-family.html



http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/10/how-to-impress-boy-in-hindi.html


http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/10/how-to-impress-girl-in-hindi.html


http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/10/joint-pain-ka-ilaj_14.html





http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/09/jhaai-or-pigmentation.html



अपनी बीमारी का फ्री समाधान पाने के लिए और आचार्य जी से बात करने के लिए सीधे कमेंट करे ।

अपनी बीमारी कमेंट करे और फ्री समाधान पाये

|| आयुर्वेद हमारे ऋषियों की प्राचीन धरोहर ॥

अलर्जी , दाद , खाज व खुजली का घरेलु इलाज और दवा बनाने की विधि हेतु विडियो देखे

Allergy , Ring Worm, Itching Home Remedy

Home Remedy for Allergy , Itching or Ring worm,

अलर्जी , दाद , खाज व खुजली का घरेलु इलाज और दवा बनाने की विधि हेतु विडियो देखे

Click on Below Given link to see video for Treatment of Diabetes

Allergy , Ring Worm, Itching Home Remedy

Home Remedy for Diabetes or Madhumeh or Sugar,

मधुमेह , डायबिटीज और sugar का घरेलु इलाज और दवा बनाने की विधि हेतु विडियो देखे