त्रिफला चूर्ण के लाभ | Triphala Benefits in Hindi


त्रिफला के उपयोग

ज्यादर स्त्रिया बाल झड़ने से परेशान है इसका उपचार करने के लिए ५ ग्राम त्रिफला चूर्ण में १२५ ग्राम लौह भस्म को मिलाकर रोजाना सुबह और शाम खाने से बालों का झड़ना बंद हो जाता है |

रात के समय एक चम्मच त्रिफला के चूर्ण को पानी में भिगोकर रख दे | अगले दिन सुबह इस पानी के साथ अपनी आँखों को धो लें | इससे आखों के सभी रोग ठीक हो जाते है |

जो मनुष्य पित्त , कफ , प्रमेह , कुष्ठ , आखों के रोग से पीड़ित है | उसे त्रिफला के चूर्ण को रोजाना सुबह और शाम के समय प्रयोग करे | इससे इन सभी बीमारियों का नाश होता है |
त्रिफला चूर्ण के लाभ , Triphala Benefits in Hindi, home remedies with triphala in hindi, triphala churna ke fayde, त्रिफला क्वाथ कैसे बनाये व सेवन विधि, त्रिफला चूर्ण के फायदे,
त्रिफला चूर्ण के लाभ , Triphala Benefits in Hindi, home remedies with triphala in hindi, triphala churna ke fayde, त्रिफला क्वाथ कैसे बनाये व सेवन विधि, त्रिफला चूर्ण के फायदे, 

त्रिफला को ४०० मिलीलीटर पानी में उबालकर ठंडा करके इसका क्वाथ बना लें | लगभग २० मिलीलीटर की मात्रा में प्रतिदिन पीने से विषम ज्वर ठीक हो जाता है |

त्रिफला , दाडिम , राजादन ये सभी औषधि वायुनाशक और मूत्ररोग जैसी बीमारी को दूर करता है | इसका रोजाना सेवन करने से काम करने की क्षमता मिलती है और शरीर में फुर्ती और ताकत आती है |

पित्तजनित गुल्म नामक औषधी में हरड और द्राक्षा मिलाकर गुड के साथ पीना चाहिए | इसके आलावा त्रिफला चूर्ण की ३ से ५ ग्राम की मात्रा को एक दिन में कम से कम तीन बार प्रयोग करना चाहिए |


रोजाना रात को सोते समय एक चम्मच त्रिफला चूर्ण को हल्के गर्म पानी के साथ सेवन करने से पेट से जुडी हुई समस्या  दूर हो जाती है | और साथ ही साथ कब्ज जैसी बीमारी से भी निजात मिल जाती है |


काढ़ा बनाने की विधि : -

रात के समय एक चम्मच त्रिफला चूर्ण को लगभग २०० मिलीलीटर पानी में भिगोकर रख दे | अगले दिन सुबह के समय इस पानी को उबाल लें | पानी पकते – पकते जब आधा रह जाए तो इसे छानकर ठण्डा करके इसमें २ चम्मच शहद मिलाकर रोजाना खाली पेट पीयें | इस प्रकार से तैयार काढ़े को प्रतिदिन प्रयोग करने से मोटापे को दूर किया जा सकता है | इससे कई किलो तक वजन घट जाता है |
त्रिफला काढ़ा बनाने की विधि और इसका सेवन करने का सही तरीका , triphala kwath banane ki vidhi or iska sevan karne ka tarika
त्रिफला काढ़ा बनाने की विधि और इसका सेवन करने का सही तरीका , triphala kwath banane ki vidhi or iska sevan karne ka tarika

अम्लपित्त की बीमारी से पीड़ित मनुष्य को रोजाना आधा चम्मच त्रिफला के चूर्ण का सेवन करना चाहिए | इस औषधी को प्रतिदिन सुबह , दोपहर और शाम के समय हल्के गर्म पानी के साथ प्रयोग करना चाहिए |

त्रिफला का चूर्ण शक्ति वर्धक औषधी होती है | इसे रोजाना प्रयोग करने से मनुष्य की कमजोरी 
दूर हो जाती है |

 जो व्यक्ति काफी लम्बे समय से बीमार हो उसे रोजाना इस औषधी का सेवन करना चाहिए | इसके सेवन करने से वह हर प्रकार की बीमारी से मुक्त हो जाता है |

त्रिफला के चूर्ण का प्रयोग करने से पहले किसी अच्छे और निपुण वैद्य से अवश्य जानकारी ले | क्योंकी इस औषधी का प्रयोग मौसम के अनुसार करते है तो इसका और अधिक लाभ हमे प्राप्त होता है |


नोट   :- किसी भी गर्भवती महिला को त्रिफला का सेवन नहीं करना चाहिए | 

No comments:

Post a Comment


http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/09/pet-ke-keede-ka-ilaj-in-hindi.html







http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/08/manicure-at-home-in-hindi.html




http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/11/importance-of-sex-education-in-family.html



http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/10/how-to-impress-boy-in-hindi.html


http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/10/how-to-impress-girl-in-hindi.html


http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/10/joint-pain-ka-ilaj_14.html





http://ayurvedhome.blogspot.in/2015/09/jhaai-or-pigmentation.html



अपनी बीमारी का फ्री समाधान पाने के लिए और आचार्य जी से बात करने के लिए सीधे कमेंट करे ।

अपनी बीमारी कमेंट करे और फ्री समाधान पाये

|| आयुर्वेद हमारे ऋषियों की प्राचीन धरोहर ॥

अलर्जी , दाद , खाज व खुजली का घरेलु इलाज और दवा बनाने की विधि हेतु विडियो देखे

Allergy , Ring Worm, Itching Home Remedy

Home Remedy for Allergy , Itching or Ring worm,

अलर्जी , दाद , खाज व खुजली का घरेलु इलाज और दवा बनाने की विधि हेतु विडियो देखे

Click on Below Given link to see video for Treatment of Diabetes

Allergy , Ring Worm, Itching Home Remedy

Home Remedy for Diabetes or Madhumeh or Sugar,

मधुमेह , डायबिटीज और sugar का घरेलु इलाज और दवा बनाने की विधि हेतु विडियो देखे